Bank loan

लोन क्या होता है । Loan kya hota hai | कितने प्रकार के लोन हैं

लोन क्या होता है । कितने प्रकार के लोन हैं । लोन के रोचक तथ्य (Facts of Loan) : हेलो दोस्तों, आज हम इस आर्टिकल में लोन के बारे में बात करते हैं। आजकल तो लोन के बारे में चाहे वह इंटरनेट पर हो या फिर कोई सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर। सभी लोग हर जगह लोन के बारे में बातचीत करते रहते हैं। लेकिन किसी भी व्यक्ति को लोन के बारे में पूरी विस्तार से जानकारी नहीं होती है।

ADVERTISMENT

अगर आपको लोन के बारे में जानना है विस्तार में तो हम इस आर्टिकल में आपको लोन के बारे में पूरी जानकारी देने वाले हैं। हम इस आर्टिकल में कोई शॉर्टकट तरीके में आपको लोन के बारे में नहीं बताना चाहते हैं हम आपको विस्तार से बताना चाहते हैं ताकि आप लोन के बारे में अच्छे से जान ले और दूसरों को भी सही ज्ञान दे।

अगर आपको लोन के रोचक तथ्य जानने हैं तो आपको सबसे पहले लोन क्या है? कितने प्रकार के होते हैं? लोन कौन अप्लाई कर सकता है? लोन की विशेषताएं और फायदे। और लोन लेने से क्या क्या नुकसान हो सकता है। तो चलिए हम इन सब के बारे में एक-एक कर अच्छे से विस्तार में समझते हैं।

लोन क्या होता है? | Loan kya hota hai

लोन का यह अर्थ है कि अगर आपको पैसों की जरूरत है तो आप बैंक से जो पैसा लेते हैं। या किसी इंसान को से पैसा लेते हैं यह कह कर कि हम इतने वक्त में आपको चुका देंगे या फिर वह आदमी हो, या बैंक यह शर्त रखता है कि आपको इतना ब्याज पर वापस चुकाना पड़ेगा और इतने समय में चुकाना पड़ेगा।

ऐसी बहुत सारी बैंक है और साहूकार है जो लोन देते हैं, ब्याज के हिसाब से और बहुत सारे लोग जरूरत पड़ने पर लोन ले ही लेते हैं चाहे वह कम ब्याज हो या फिर ज्यादा अगर किसी इंसान को पैसों की जरूरत पड़ती है तो वह ले ही लेता है।

अभी आप यह मत सोचना कि लोन के विषय के बारे में आपको बता दिया तो यह इतना ही है। अगर आप ऐसा सोच रहे तो बिल्कुल गलत सोच रहे हैं। क्योंकि लोन का अर्थ बताया हमने इस पंक्ति में बाकी बहुत सारे चीजों को आपको विस्तार में समझना पड़ेगा।

कितने प्रकार के लोन होते हैं

वैसे देखा जाए तो विभिन्न प्रकार के लोग होते हैं जो आपको अपना सपना पूरा या फिर अपना पहले का पैसे चुकाने में मदद करते हैं। तो चलिए हम कुछ लोन के बारे में यहां नीचे पंक्तियों में लिख देते हैं कि कितने प्रकार के लोग होते हैं और कौन से होते हैं।

  • 1) होम लोन (Home Loan)
  • 2) पर्सनल लोन (Personal Loan)
  • 3) गोल्ड लोन (Gold Loan)
  • 4) प्रॉपर्टी लोन (Property Loan)
  • 5) एजुकेशन लोन (Education Loan)
  • 6) पीपीएफ लोन (PPF Loan)
  • 7) इंश्योरेंस लोन (Insurance Loan)
  • 8) कार लोन (Car Loan)
  • 9) बाइक लोन (Bike Loan)
  • 10) P2 P लोन (P2P Loan )

यह थी कुछ 10 उदाहरण जो विभिन्न प्रकार के लोन हैं जिसे कोई भी व्यक्ति जो एलिजिबल है वह ले सकता है और लोन की भरपाई धीरे धीरे कर सकता है।

Extra Tip

हाँ, अगर आप लोन ले रहे हैं और आपको पता नहीं कि लोन कैलकुलेट कैसे किया जाता है। और किस प्रकार लोन का हिसाब लगाया जाता है। जाने के लिए आप इन पंक्तियों को ध्यान से पढ़ना और समझ लेना कि लोन ईएमआई कैसे कैलकुलेट करते हैं।

Ye bhi padhe : Free credit card kaise milega

ईएमआई कैलकुलेटर नामक एक ऐसा टूल आता है- इंटरनेट पर जहां आप अपना ईएमआई कितना देना है। और अन्य कई चीजें आप उस टूल के द्वारा जान सकते हो कि आपको कितना देना है कितना डाउन पेमेंट करना है और कितना ब्याज देना है महीने का।

अगर आपको emi केलकुलेटर के बारे में और जानना है तो आप हमारे लोन से जुड़े अन्य आर्टिकल पड़े जहां आपको या मैं केलकुलेटर के बारे में हमने विस्तार से बताया है।

लोन कौन ले सकता है?

लोन हर कोई व्यक्ति ले सकता है जिसका खुद का खेत हो और लोन लेने के एलिजिबिलिटी क्राइटेरिया मैं जो-जो चीजें आते हैं वह उसके पास हो और 18 वर्ष से ज्यादा उम्र का हो।

अगर इंसान के पास यह सब हो तो वहां आसानी से लोन ले सकता है। लोन कहीं प्रकार के होते हैं। या अपने ऊपर दिए गए पंक्तियों में जान लिया यह होगा। हर एक लोन लेने का प्रोसीजर अलग होता है इस बात का भी आप अच्छे से ध्यान रखना।

लोन के रोचक तथ्य (Facts of Loan)

लोन के रोचक तथ्य के बारे में बहुत लोग जानने के लिए अक्सर इंटरनेट पर ढूंढते रहते हैं। लेकिन हर कोई इंटरनेट में भी आधी अधूरी जानकारी डाल देता है। लेकिन हम यहां इस आर्टिकल में आपको पूरी जानकारी देंगे लोन के रोचक तथ्य के बारे में तो आप आर्टिकल ध्यान से पढ़िएगा और अगर आपको अच्छा लगे तो अपने मित्रों, फैमिली और रिश्तेदारों को भी बढ़ा देना।

  • पर्सनल लोन आप आराम से किसी भी बैंक से ले सकते हो क्योंकि यहां आपको ब्याज कम भरना पड़ता है और लोन रीपेमेंट का वक्त भी लंबा दिया जाता है ताकि आप पर कोई ज्यादा दबाव ना हो।
  • पर्सनल लोन के फायदों में से एक यह है कि प्रोसेसिंग का समय बहुत जल्दी होता है। लोन के लिए बहुत सारे दस्तावेज़ीकरण की आवश्यकता नहीं होती है। ज्यादातर मामलों में, आवेदक को अपना पता प्रमाण, पहचान का प्रमाण और आय का प्रमाण जमा करना होता है। कई बैंक अपने ग्राहकों को पर्सनल लोन के लिए पूर्व-अनुमोदित भी करते हैं और इन मामलों में, दस्तावेज़ी करण आवश्यक भी नहीं हो सकता है।
  • पर्सनल लोन अगर आप लेते हैं तो यह एक प्रकार का लाटरी है, क्योंकि आप यह अपने पर्सनल चीजों के लिए लेते हैं जैसे की शादी या फिर किसी का लोन चुकाना हो इसके लिए लेते हैं तो आपको अपने जेब से ही फिर पैसा डालना पड़ेगा लोन भरने के लिए।
  • वेतनभोगी और गैर-वेतनभोगी दोनों व्यक्ति पर्सनल लोन के लिए पात्र हैं। पर्सनल लोन के लिए आवेदन करने में सक्षम होने के लिए, आवेदक की आयु कम से कम 21 वर्ष और 60 वर्ष से अधिक नहीं होनी चाहिए (वेतनभोगी व्यक्तियों के लिए)। स्व-नियोजित व्यक्तियों के लिए ऊपरी आयु सीमा 65 वर्ष है। मासिक आय के संबंध में आवेदक की न्यूनतम मासिक आय 25,000 रुपये होनी चाहिए।
  • लोन वापस भरने के लिए आपको 1 से 5 साल तक का समय दिया जाता है उससे ज्यादा देना थोड़ा मुश्किल है।
  • लोन राशि के वितरण के संबंध में, एक बार दस्तावेज़ीकरण और सत्यापन प्रक्रिया पूरी होने के बाद, लोन राशि 48 घंटों के भीतर वितरित की जाती है। कुछ मामलों में, बैंक चुनिंदा ग्राहकों को तत्काल लोन प्रदान करते हैं जो आवेदन करने के कुछ ही मिनटों के भीतर वितरित कर दिए जाते हैं।
  • क्या सभी को लोन सैंक्शन आसानी से हो जाता है? नहीं ऐसा बिल्कुल नहीं है लोन सैंक्शन सभी को नहीं होता क्योंकि बैंक वाले भी सब का लोन अप्रूव नहीं कर सकते हैं।
  • मैक्सिमम बैंक का इंटरेस्ट 12 परसेंट तक होता है। जो बहुत ज्यादा है लेकिन आजकल सारे बैंक ज्यादा इंटरेस्ट पर ही लोन दे रहे हैं।
  • ज्यादा से ज्यादा हर एक बैंक 50,000 तक का लोन हर एक बैंक आराम से सैंक्शन करवा सकता है लेकिन उससे ज्यादा करवाना थोड़ा मुश्किल है।
  • बहुत सारे लोग बैंक का लोन चुका नहीं पाते उस कारण उनको बहुत सारे मुश्किलों का सामना करना पड़ता है।
  • आपका क्रेडिट स्कोर या सिबिल स्कोर पर्सनल लोन को मंज़ूरी दिलाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। अधिकांश बैंकों को पर्सनल लोन के लिए पात्र होने के लिए अपने लोन आवेदकों को न्यूनतम 750 या उससे अधिक का क्रेडिट स्कोर रखने की आवश्यकता होती है।
  • इसके अलावा, सिबिल रिपोर्ट में छूटे हुए ईएमआई भुगतानों के बारे में टिप्पणियां भी शामिल हैं, जिन पर लोन आवेदन की समीक्षा करते समय भी विचार किया जाता है। क्रेडिट स्कोर और पुनर्भुगतान ट्रैक रिकॉर्ड को ध्यान में रखा जाता है जब बैंक और वित्तीय संस्थान अधिकतम लोन राशि और ब्याज दर तय कर रहे होते हैं।

FAQ

पर्सनल लोन कहां यूज़ किया जा सकता है

आप आपकी सुविधा के हिसाब से इसको यूज़ कर सकते हैं जहां आपको जरूरत हो आप वहां यूज कर सकते हैं इसके इसके लिए कोई प्रतिबंध नहीं होता

क्या पर्सनल लोन में ब्याज कम लगता है ?

जी नहीं सबसे ज्यादा ब्याज पर्सनल लोन में ही लिया जाता है इसलिए हम आपको कहेंगे कि आप जितना हो सके पर्सनल लोन से बचे रहे

तो यह थे लोन के रोचक तथ्य।

ऊपर के सारे पंक्तियों में हमने आपको लोन के रोचक तथ्य के बारे में अच्छे से विस्तार से समझा दिया है यदि, आप फिर भी नहीं समझ रहे हैं तो एक और बार आप आर्टिकल पढ़ना और आपके सवाल कमेंट बॉक्स में डाल देना हम आपके प्रश्न का उत्तर देने की पूरी कोशिश करेंगे।

यदि आर्टिकल आपको पसंद आया तो अपने दोस्तों, परिवार और रिश्तेदारों को भेजना मत भूलिए ताकि उनको भी पता चले कि लोन के रोचक तथ्य क्या है। धन्यवाद।

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

ADVERTISMENT
Back to top button
ADVERTISMENT