Yojna

कृषि इनपुट अनुदान योजना 2022: ऑनलाइन आवेदन | एप्लीकेशन फॉर्म | subsidy

इस योजना का मुख्य उद्देश्य उन किसानों की मदद करना है जिन की फसल मौसम की वजह से खराब हो जाती है।

Rate this post

बिहार सरकार द्वारा चलाई गई स्कीम कृषि इनपुट अनुदान योजना का लाभ किसानों को मिलना शुरू हो गया है। यह योजना किसानों को लाभ पहुंचाने के लिए शुरू की गई है। इस योजना का मुख्य उद्देश्य उन गरीब किसानों को मुआवजा प्रदान करना है जिन की फसल खराब मौसम की वजह से बर्बाद हो गई है। वे सभी किसान जिनकी फसलें मौसम की वजह से बर्बाद हुई है वह इस योजना के अंतर्गत मुआवजा ले सकते हैं। इस योजना के तहत किसानों को क्षतिग्रस्त फसल के लिए 6800 से ₹13500 प्रति हेक्टेयर प्रदान किया जाएगा। न्यूनतम राशि 1000 तय की गई है।

ADVERTISMENT

फिलहाल के लिए यह स्कीम बिहार के उन राज्य में चलाई जा रही है जहां पर बाढ़ से फसल को नुकसान होता है। यह स्कीम अभी तक औरगाबाद, भागलपुर, बक्सर, गया, जहानाबाद, कैमूर, मुजफ्फरपुर, पटना, पूर्वी चंपारण, समस्तीपुर व वैशाली के किसानों के लिए चलाई जा रही है। इन जिलों के अलावा बाकी किसान स्कीम का फायदा नहीं उठा सकते।

Scheme Name कृषि इनपुट अनुदान योजना 2022 ( Krishi input anudaan yojna)
Launch Date 2021
Launch by SHRI NITISH KUMAR (Bihar Chief Minister)
Supervised by Bihar Agriculture Department
Official website https://dbtagriculture.bihar.gov.in/
Helpline Number 0612-2233555/1800-180-1551

कृषि इनपुट अनुदान योजना 2022 का उद्देश्य

इस योजना का मुख्य उद्देश्य उन किसानों की मदद करना है जिन की फसल मौसम की वजह से खराब हो जाती है। फसल खराब होने पर किसान को आर्थिक तंगी का सामना करना पड़ता है। यहां तक कि कई बार किसान को मजबूर होकर आत्महत्या जैसे जानलेवा कदम भी उठाने पड़ते हैं। इसी सब को मद्देनजर रखते हुए बिहार सरकार द्वारा कृषि इनपुट अनुदान योजना 2022 को लांच किया गया है।

किस-किस को मिलेगा लाभ ?

इस योजना के अंतर्गत केवल उन खेतों पर मुआवजा मिलेगा जिन की फसल आंधी तूफान ओलावृष्टि से खराब हुई है। इसके अलावा अन्य कारण से फसल खराब होने पर अभी इस स्कीम के तहत मुआवजा प्रदान नहीं किया जा रहा है।

मुआवजा बिहार सरकार द्वारा प्रदान किया जाएगा जो सब्सिडी के रूप में सीधा किसान के बैंक अकाउंट में पहुंचा दिया जाएगा।

नई अपडेट

इस योजना के अंतर्गत जो किसान अप्लाई नहीं कर पाए उनको आवेदन करने का एक और मौका प्रदान किया जा रहा है। मार्च कि रबी की फसल का आवेदन करने के लिए 7 से 20 मई तक का समय दिया गया है। इसके लिए बिहार राज्य के निम्नलिखित 19 जिलों के किसान आवेदन कर सकते हैं:-

गोपालगंज, मुजफ्फरपुर, पूर्वी चम्पारण, पश्चिमी चम्पारण, समस्तीपुर, बेगूसराय, लखीसराय, खगड़िया, भागलपुर, सहरसा, सुपौल, मधेपुरा, सीतामढ़ी, शिवहर, दरभंगा, मधुबनी, पूर्णिया, किशनगंज तथा अररिया के प्रतिवेदित 148 प्रखंडों आदि क्षेत्रो के किसान इस योजना के तहत 7 से 20 मई तक आवेदन कर सकते है |

बिहार कृषि इनपुट अनुदान योजना 2022 Key points

इस योजना के तहत असिंचित क्षेत्र के खेतों के लिए प्रति हेक्टेयर ₹6800 दिए जाएंगे और वहीं सिंचित क्षेत्र के खेतों के लिए ₹13500 प्रदान किए जाएंगे।

कृषि योग्य भूमि जहां पर बालू या सिल्ट का जमाव 3 इंच से अधिक हो वहां प्रति हेक्टेयर खेतों के लिए 12, 200 रुपए दिए जाएंगे।

स्कीम की एक लिमिटेशंस यह है कि एक किसान को ज्यादा से ज्यादा 2 हेक्टेयर फसल पर ही मुआवजा मिल सकता है।

योजना के लिए न्यूनतम राशि ₹6000 तय की गई है।

Krishi Input Subsidy Yojana का लाभ लेने के लिए किसान का आधार कार्ड बैंक अकाउंट से लिंक होना जरूरी है।

योजना का लाभ लेने के लिए सबसे पहले यह पता कर ले, आपका इलाका सूखाग्रस्त या बाढ़ ग्रस्त हुआ हो। ऐसे ही कुछ इलाकों की लिस्ट पहले ही जारी की जा चुकी है। यह जानकारी आपको अपने ब्लॉक डिवीजन ऑफिसर दफ्तर से प्राप्त हो जाएगी।

इस योजना के अंतर्गत कुछ किसानों को न्यूनतम ₹1000 मुआवजा भी प्रदान किया जाता है।

बिहार कृषि इनपुट अनुदान योजना 2022 का पैसा DBT के माध्यम से सीधा किसान के बैंक अकाउंट में भेजा जाता है।

मुआवजा प्राप्त करने के लिए किसान बैंक अकाउंट का आधार कार्ड से लिंक होना जरूरी है।

जरूरी दस्तावेज

  1. यह केवल बिहार के कुछ सूखाग्रस्त और बाढ़ ग्रस्त जिलों के लिए चलाई गई है। किसान बिहार का स्थाई निवासी होना अनिवार्य है।
  2. किसान और बटाईदार दोनों इस योजना का लाभ ले सकते हैं। बटाईदार या लीज पर काम करने वाले किसान के पास खेतीहर+स्वयं भू-धरी की स्थिति में भूमि के दस्तावेज के साथ स्व घोषणा पत्र संलग्न होना चाहिए।
  3. किसान के पास एलपीसी/जमीन रसीद/वंशावली/जमाबंदी/विक्रय पत्र होना चाहिए।
  4. मोबाइल नंबर (‌ आधार लिंक)
  5. पासपोर्ट साइज फोटो

कृषि इनपुट अनुदान योजना 2022 में आवेदन कैसे करे?

इस योजना के लिए स्वयं भी आवेदन किया जा सकता है या फिर आप सीएससी सेंटर जाकर भी आवेदन कर सकते हैं।

कृषि इनपुट अनुदान योजना 2022 उठाने के लिए निम्नलिखित तरीके से आवेदन करें:

  • 1. सबसे पहले किसान को बिहार सरकार की ऑफिशियल वेबसाइट पर विजिट करना होगा।
  • 2. थोड़ा नीचे स्क्रॉल करने पर आपको कृषि इनपुट अनुदान योजना खरीफ 2021- 2022 दिखाई देगा।
  • 3. यहां पर ‘ पंचायत जाने’ बटन पर क्लिक करना है। क्लिक करने के बाद आपकी मोबाइल में पीडीएफ फाइल डाउनलोड हो जाएगी। आपको यहां से देखना है कि क्या आपका जिला या पंचायत इस योजना का लाभ लेने के लिए वैलिड है या नहीं।
  • 4. यदि आप का इलाका योजना के अंतर्गत शामिल है तो साथ में दिए ‘ आवेदन करें ‘ पर क्लिक करें।
  • (या फिर)
  • होम पेज पर ऑनलाइन आवेदन करें टैब पर क्लिक करें। इसके बाद आपके सामने एक नई टैब खुलकर आएगी। यहां पर आपको कृषि इनपुट अनुदान योजना पर क्लिक करना है।
  • 5. क्लिक करने के पश्चात आपको सामने एक पॉपअप ओपन होगा। इसमें आपको दो ऑप्शन देखने को मिलेंगे। यदि आप सीएससी से अप्लाई करवा रहे हैं तो सीएससी सेंटर चुनना होगा यदि आप खुद कर रहे हैं तो आपको जनरल यूजर चुनना होगा।
  • 6. यहां पर आपको पंजीकरण संख्या दर्ज करनी होगी और उसके बाद सर्च पर क्लिक करना है।
  • 7. इसके बाद नया मैसेज आएगा जिसमें यह बताया गया है कि योजना का लाभ लेने के लिए आपका खाता एनपीसीआई या आधार से लिंक होना चाहिए। इस पर ओके क्लिक करें। ओके क्लिक करने के बाद आपको सबसे नीचे आ जाना है।
  • 8. यहां पर आपको किसान का पूरा विवरण देखने को मिलेगा। जैसे कि नाम, पंजीकरण, पिता का नाम। आपको उसे थोड़ा नीचे आना है और आपको यहां पर दर्ज करना होगा खेती करने योग्य कुल कितनी जमीन है।
  • 9. इस आवेदन पत्र में आपको किसान का प्रकार, फसल का नाम, जमीन का प्रकार, क्षति का विवरण, थाना नंबर, खाता नंबर, खसरा नंबर सभी जानकारी दर्ज करनी होगी। सभी जानकारी दर्ज करने के बाद उस खेत पर मिलने वाली अनुदान राशि अपने आप आ जाएगी। इसके बाद आपको शपथ पत्र के नीचे लिखे गए तीन शर्तों पर क्लिक करना है।
  • 10. फार्म पूरा भरने के बाद कैप्चा कोड भरें और गेट ओटीपी पर क्लिक करें।
  • 11. ओटीपी दर्ज करने के बाद वैलिडेट एंड अप्लाई पर क्लिक करें। अब यहां पर डॉक्यूमेंट अपलोड करना होगा। अपलोड डॉक्यूमेंट पर क्लिक करके डॉक्यूमेंट अपलोड करें।
  • 12. यदि आप बटाईदार किसान हैं तो आपको स्वघोषणा पत्र डाउनलोड करने के बाद पूरा भरने पर अपलोड करना होगा।
  • 13. स्व घोषणा पत्र में किसान का नाम पिता का नाम आदि जानकारी दर्ज करनी है।
  • 14. यदि आपकी खुद की जमीन है तो केवल एल.पी.सी. लगाना होगा।
  • 15. इसके बाद सबमिट पर क्लिक करें आपका आवेदन पूरा हो चुका है।

स्वघोषणा पत्र कैसे भरें?

  • स्वघोषणा पत्र वेबसाइट से डाउनलोड करने के बाद स्कैन्ड इमेज अपलोड करनी होगी। इस घोषणा पत्र में सबसे पहले किसान का नाम, पिता या पति का नाम, गांव का नाम, पंचायत, प्रखंड, जिला, राज्य दर्ज करने होंगे।
  • इसके बाद आपको उस खेत का भी विवरण डालना होगा जिस पर आप बटाई पर काम कर रहे हैं। इसमें थाना संख्या, खसरा संख्या, भूमिहर का नाम, कुल खेती योग्य रकवा डालना होगा।
  • इसके बाद नीचे खेत के मालिक का नाम, पता, मोबाइल नंबर, दर्ज करके हस्ताक्षर करवाने होंगे।
  • सबसे नीचे आपको कृषि सलाहकार से हस्ताक्षर करवाने होंगे और वार्ड सदस्य का नाम और हस्ताक्षर करवाने होंगे।

आवेदन प्रक्रिया की स्थिति जानने के लिए

  • आवेदन प्रक्रिया कि स्थिति जांचने के लिए सबसे पहले ऑफिशियल वेबसाइट पर आवेदन की स्थिति आवेदन प्रिंट करें पर क्लिक करें।
  • यहां पर आपको नीचे कृषि इनपुट अनुदान योजना 2021-22 आवेदन की स्थिति पर क्लिक करना है।
  • क्लिक करने के बाद आपको एप्लीकेशन नंबर दर्ज करके सर्च पर क्लिक करना होगा ।
  • क्लिक करने के बाद आपके सामने पूरा विवरण आ जाएगा। यहां पर आपको रजिस्ट्रेशन आईडी आधार या फिर मोबाइल नंबर से रिकॉर्ड सर्च करना होगा।
  • इसके बाद आपको पूछी गई संबंधित जानकारी दर्ज करनी होगी। इसके बाद सर्च पर क्लिक करें।
  • इसके बाद आप के पंजीकरण की स्थिति आपके सामने होगी।

पावती प्रिंट कैसे करें ?

आवेदन करने के बाद आवेदन फॉर्म की पावती प्रिंट जरूर ले।

  • पावती प्रिंट प्राप्त करने के लिए ऑफिशियल वेबसाइट पर विजिट करें।
  • होम पेज पर आवेदन की स्थिति आवेदन प्रिंट पर क्लिक करें।
  • इसके बाद आपको पावती के प्रकार का चयन करना होगा‌।
  • इसके बाद आपको अपनी रजिस्ट्रेशन आईडी दर्ज करनी होगी।
  • उसके बाद शो रिकॉर्ड्स पर क्लिक करें।
  • यहां पर सभी रिकॉर्ड खुलकर आ जाएंगे।
  • यहां से आप अपना रिकॉर्ड प्रिंट कर सकते हैं।

कृषि अधिकारी लोगिन करने प्रक्रिया?

यदि आप कृषि अधिकारी है तो आपको ज्ञात होगा कि पुराने कृषि समन्वयक को दिए गए आईडी पासवर्ड बंद कर दिए गए हैं। नया आईडी पासवर्ड प्राप्त करने के लिए जिला कृषि पदाधिकारी से संपर्क करना होगा। नई के साथ आप लोग इन कर पाएंगे।

सर्वप्रथम एग्रीकल्चर डिपार्टमेंट बिहार की ऑफिशियल वेबसाइट को ओपन करें।
होम पेज पर कृषि अधिकारी लॉगइन एप पर क्लिक करें ।
यहां पर मांगे गए ऑर्गेनाइजेशन यूजर नेम, पासवर्ड, दर्ज करे। कैप्चा कोड डालने के बाद लॉगिन पर क्लिक करें।

सीएससी केंद्र खोजने की प्रक्रिया

यदि आपको आवेदन करना नहीं आता है तब CSC केंद्र जाकर भी आवेदन कर सकते हैं। कौनसे सीएससी केंद्र आवेदन कर रहे हैं या नहीं यह जानने के लिए भी आपको बिहार एग्रीकल्चर डिपार्टमेंट की ऑफिशल वेबसाइट पर जाना होगा।

  • यहां पर आपको संपर्क करें टैब पर क्लिक करना होगा।
  • इसके बाद सीएससी केंद्र खोजें पर क्लिक करें।
  • यहां पर एक विंडो देखने को मिलेगी जिसमें आपको राज्य का नाम, जिले का नाम, कैप्चा कोड आदि दर्ज करना होगा।
  • इसके बाद सीएससी सेंटर खोजें पर क्लिक करें।
  • आपके सामने आपके नजदीकी CSC सेंटर की सारी जानकारी आ जाएगी।

बैंक आधार लिंक की जांच करें

  • योजना का लाभ उठाने के लिए आधार कार्ड का बैंक खाते से लिंक होना जरूरी है।
  • यह चेक करने के लिए कि आपका आधार कार्ड पैन कार्ड से लिंक हुआ या नहीं सबसे पहले बिहार गवर्नमेंट एग्रीकल्चर की ऑफिशल वेबसाइट पर क्लिक करें।
  • यहां पर थोड़ा नीचे स्क्रॉल करें। यहां पर आपको महत्वपूर्ण लिंक के नीचे अपने आधार लिंक बैंक खाते की जांच करें देखने को मिलेगा इस लिंक पर क्लिक करें ।
  • क्लिक करने के पश्चात आपको एक नई विंडो देखने को मिलेगी, जहां पर आप को आधार नंबर दर्ज करके कैप्चा कोड डालना होगा।
  • इसके बाद सेंड OTP पर क्लिक करें और OTP प्राप्त होने के बाद एंटर ओटीपी पर क्लिक करें।
  • उसके बाद आपको एक नई विंडो देखने को मिलेगी। यहां पर आपको बता दिया जाएगा कि आपका बैंक खाता आधार कार्ड से लिंक है या नहीं।

डीबीटी का मुख्यालय संपर्क सूत्र

यदि आपको किसी प्रकार की समस्या का सामना करना पड़ रहा है तो आप डीबीटी मुख्यालय संपर्क सूत्र से बात कर सकते हैं।
संपर्क सूत्र की ऑफिशियल मोबाइल नंबर पीडीएफ डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें:

डीबीटी मुख्यालय संपर्क सूत्र

जरूरी बातें

आवेदन करने के लिए बिहार सरकार द्वारा निश्चित समय प्रदान किया जाता है। यह समय आम तौर पर 1 महीने के लिए ही होता है। इसलिए यह जरूरी है कि आप सही समय पर रजिस्ट्रेशन कराएं। रजिस्ट्रेशन कराने की प्रक्रिया अभी बंद की जा चुकी है आप अगले साल इस योजना के लिए रजिस्ट्रेशन कर पाएंगे।

निष्कर्ष

उम्मीद है आपको बिहार कृषि इनपुट योजना के संबंधित सारी जानकारी मिल गई होगी। इस पोस्ट में आपको कृषि इनपुट सब्सिडी स्कीम अप्लाई करने की जानकारी से लेकर आवेदन करने तक की जानकारी दी गई है। इस आर्टिकल में हमने बताया किस प्रकार आप कृषि इनपुट सब्सिडी स्कीम फॉर्म डाउनलोड कर सकते हैं।

बिहार में सरकार द्वारा चलाई जाने वाली योजनाओं के बारे में जाने के लिए हमारी वेबसाइट Loanpegyan पर विजिट करें।

ADVERTISMENT

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

ADVERTISMENT
Back to top button
ADVERTISMENT