Credit Card

Why Mastercard Banned in India in hindi | आरबीआई द्वारा मास्टर कार्ड पर प्रतिबंध क्यों लगाया गया

Rate this post

Mastercard Banned in India : दोस्तों भारतीय रिजर्व बैंक यानी कि आरबीआई ने बुधवार 14 जुलाई को मास्टर कार्ड को अपने नेटवर्क पर डेबिट, क्रेडिट या फिर प्रीपेड कार्ड उपयोगकर्ताओं सहित नए घरेलू ग्राहकों के ऑनबोर्डिंग पर रोक लगा दी है। यह प्रतिबंध 22 जुलाई से प्रभावी होने की बात कही जा रही है। मतलब कि अब मास्टरकार्ड भारत में नहीं चलेगा।

सभी जारी करने वाली मास्टर कार्ड बैंकों को और गैर बैंकों को इन निर्देशों का पालन करने की सलाह प्रदान की गई है। दोस्तों हम आपको बता दें कि भुगतान और निपटान प्रणाली अधिनियम 2007 पीएस अधिनियम की धारा 17 के तहत अब आरबीआई में निहित शक्तियों के प्रयोग में पर्यवेक्षी कार्रवाई की गई है।

ADVERTISMENT

हालांकि भारत में मास्टर कार्ड पर आरबीआई के प्रतिबंध ने मास्टर कार्ड के मौजूदा ग्राहकों के मन में बहुत सारे सवालों को खड़ा किया है और इन सभी सवालों का जवाब का आज के लेख में आपको जानने के लिए मिलने वाला है और नेशनल बैंक द्वारा भी अपने आदेश को उल्लेख किया है कि मास्टर कार्ड के मौजूदा उपयोगकर्ताओं को प्रभावित नहीं करेगा।

परंतु कई सारे सवालों के जवाब देना अभी भी बाकी है की Mastercard Banned in India कैसे ओर क्यों हुआ? आज के लेख में हमने आपको सभी महत्वपूर्ण बातों के बारे में बताएं जो कि आप Mastercard Banned in India के बारे में जानना चाहते हैं इसीलिए अंत तक जरूर पढ़ते रहे।

 

Why Mastercard Banned in India : आरबीआई द्वारा मास्टर कार्ड पर प्रतिबंध क्यों लगाया गया

तो हम जैसे कि सभी लोग जानते हैं विभिन्न प्रकार के बैंक के कार्ड होते हैं और हम उन सभी को इस्तेमाल करते हैं। पर बहुत सारे ऐसे लोग जिनके पास मास्टर कार्ड है वह इस परेशानी में है कि भारत में मास्टर कार्ड पर प्रतिबंध क्यों लगाया गया? ऐसी कौन सी परेशानी आ गई जो मास्टर कार्ड बंद करने की नौबत आ पड़ी? तो दोस्तों हम आपको बता दें कि मास्टर कार्ड भुगतान प्रणाली ऑपरेटर है जो कि पीएस अधिनियम के तहत देश में कार्ड नेटवर्क संचालित करने के लिए अधिकृत है।

दोस्तों यह 6 अप्रैल 2018 के भुगतान प्रणाली डाटा के भंडारण पर आरबीआई के परिपत्र के अनुसार है जब सभी सिस्टम प्रदाताओं को यह जानकारी सुनिश्चित करने के लिए निर्देशित किया गया था कि वह 6 महीने की अवधि के भीतर संपूर्ण डाटा जोकि पूरा लेनदेन का विवरण डाटा, एकत्रित डाटा, सभी प्रकार का ले जाया गया जाने वाला डाटा, उनके द्वारा संचालित भुगतान प्रणाली से संबंधित डाटा, संदेश भुगतान निर्देश के हिस्से के रूप में संसाधित होने वाला डाटा केवल भारत में एक प्रणाली में संग्रहित किया जाता है और वह सभी डेटा प्रदान करे।

उसी के साथ साथ उन्हें आरबीआई को अनुपाल की रिपोर्ट करने से और उसमें निर्दिष्ट समय सीमा के भीतर सीईआरटीइन पैनल में शामिल किए गए ऑडिटर द्वारा आयोजित बोर्ड अनुमोदित सिस्टम ऑडिट रिपोर्ट प्रस्तुत करने की आवश्यकता थी। यह सारे निर्देश जारी करने के पश्चात मास्टर कार्ड द्वारा इन दिशानिर्देशों का उल्लंघन करते हुए पाया गया तो केंद्रीय बैंक ने कहा कि ‘काफी समय व्यतीत होने के बाद भी अवसर प्रदान किए गए जिसके तहत कोई भी भुगतान प्रणाली डाटा भंडारण के निर्देशों का पालन नहीं कर पाया है।’

बैंकों के लिए अब इसका क्या अर्थ है? Mastercard Banned in India

दोस्तों भुगतान प्रणाली डेटा के भंडारण पर पात्रता मदन के उल्लंघन को देखते हुए अब भारतीय रिजर्व बैंक ने 22 जुलाई से सभी बैंक को मास्टरकार्ड को नए ग्राहकों को डेबिट कार्ड, क्रेडिट कार्ड या फिर प्रीपेड कार्ड जारी करने से मना कर दिया है। यानी कि अब भारत में मास्टर कार्ड नहीं चलेगा।

कई निजी क्षेत्र के ऋणदाताओं जैसे कि यस बैंक, एचडीएफसी बैंक, आईसीआईसीआई बैंक, आरबीएल बैंक और अन्य बैंक ने उपयोगकर्ताओं को प्रदान करने के लिए मास्टर कार्ड कंपनी के साथ टाई-अप किया था जिससे वह डेबिट कार्ड क्रेडिट कार्ड उपयोगकर्ताओं को देते थे।

पर अब 22 जुलाई से कोई भी बैंक मास्टर कार्ड नेटवर्क पर नए कार्ड जारी नहीं कर सकेंगे। इसमें यह कहा गया कि मास्टर कार्ड सभी जारी करने वाले बैंकों और गैर बैंकों को निर्देशों का पालन करने की सलाह देगा। इसी बीच अब आदेश के बाद अब आरबीएल बैंक ने एक नियामक फाइलिंग में कहा है कि “हम आरबीआई की पर्यवेक्षक कार्यवाही पर मास्टर कार्ड से और जानकारी की प्रतीक्षा कर रहे हैं। आरबीएल बैंक वर्तमान में केवल मास्टर कार्ड नेटवर्क पर क्रेडिट कार्ड जारी करता है।”

हम ग्राहकों का क्या होगा? Mastercard Banned in India

Mastercard Banned in India

दोस्तों अब मास्टरकार्ड इंडिया में बैन होने की खबर बहुत तेजी से फैल रही है। परंतु हम में से बहुत सारे ऐसे ग्राहक हैं जो मास्टर कार्ड का उपयोग करते हैं अब हम जैसों के लिए बहुत बड़ी समस्या है क्योंकि हमारे मन में तो यही सवाल आएगा कि हम अब मास्टर कार्ड बंद होने पर क्या करेंगे? हमें कौनसी-कौनसी परेशानियों का सामना करना पड़ेगा? क्या हमारे पास जो मास्टर कार्ड है वह काम का है या फिर नहीं?

हालांकि हमें यह देखने के लिए मिलता है कि जो मास्टर कार्ड बन ही हो गया है तब हमें उसका उपयोग नहीं। परंतु हम कैसे इस चीज को सही करेंगे और कैसे हम अपनी रोजाना जिंदगी के इन सब परेशानियों से निकलेंगे? Mastercard Banned in India हमारे निजी जिंदगी में किस प्रकार से प्रभाव डालेगा? चलिए जानते हैं इसके बारे में

दोस्तों हम जानकारी के लिए आपको बता देंगे पीपीआरओ द्वारा जारी किए गए आंकड़ों के अनुसार भारत में सभी कार्ड भुगतान में मास्टर कार्ड की हिस्सेदारी 30% से अधिक की आई हुई है। और मास्टर कार्ड एक भुगतान प्रणाली ऑपरेटर है जो कि भुगतान तथा निपटान प्रणाली अधिनियम 2007 के तहत देश में कार्ड नेटवर्क संचालित करने के लिए अधिकृत है।

यह भी पढ़ें 👉: Flipkart credit card kaise milega 

प्रदान की गई मानदंड का पालन नहीं करने की वजह से केंद्रीय बैंक ने मास्टर कार्ड पर रोक लगा दी है। जिसकी वजह से नए उपयोगकर्ताओं को अब बैंक द्वारा मास्टर क्रेडिट कार्ड, मास्टर डेबिट कार्ड प्राप्त नहीं होगा। हालांकि आरबीआई ने यह भी अपने बयान में कह कर स्पष्ट कर दिया है कि यह आदेश मास्टर कार्ड के मौजूदा ग्राहकों को प्रभावित नहीं करेगा।

इसका साफ-साफ अर्थ है कि यदि आप पहले से मास्टर कार्ड के उपयोगकरता है और आप ने हाल ही में मास्टर कार्ड के लिए अप्लाई किया है और आपको मास्टर कार्ड मिल गया है। चाहे वह डेबिट कार्ड हो या फिर कडिट कार्ड। आपको कोई भी प्रकार की दिक्कतों का सामना नहीं करना पड़ेगा। परंतु जो नए उपयोगकर्ता है मास्टर कार्ड के लिए अप्लाई करना चाहते हैं उनको मास्टरकार्ड कार्ड नहीं दिया जाएगा।

Mastercard Banned in India | पुराने ग्राहक पे नही करेगा असर

इसीलिए जिन उपयोगकर्ताओं के पास पहले से ही मास्टर कार्ड का क्रेडिट कार्ड या फिर डेबिट कार्ड है या फिर वह कृपया करके इस्तेमाल कर रहे हैं, तब ऐसे उपयोगकर्ताओं को किसी भी प्रकार की चिंता करने की आवश्यकता नहीं है। क्योंकि अब आरबीआई का आदेश केवल नए ग्राहक जोड़ने के लिए है ना कि मौजूदा क्रेडिट कार्ड ग्राहकों के लिए।

मौजूदा ग्राहक जो मास्टर कार्ड को इस्तेमाल कर रहे हैं वह बिना किसी कंपनी बदलाव के जिस प्रकार से पहले से सेवाओं का लाभ उठा रहे थे उसी प्रकार से अब भी सेवाओं का लाभ पा सकेंगे और उन्हें किसी भी परेशानी का सामना नहीं करना पड़ेगा।

Mastercard Banned in India news में बैंकिंग नियामक ने पहले ही उल्लेख किया था कि यह आदेश केवल मौजूदा ग्राहकों को प्रभावित नहीं करेगा। परंतु जो आगे मास्टर कार्ड के लिए अप्लाई करना चाहते हैं उनको कार्ड की प्राप्ति नहीं होगी। तो दोस्तों यह थी जानकारी मास्टरकार्ड इंडिया में बैन होने के बारे में।

FAQ : Mastercard Banned in India Question & Answer

दोस्तों यदि आपके मन में फिर भी मास्टर कार्ड को लेकर कई प्रकार के सवाल आ रहे हैं तब नीचे बताए गए कुछ प्रश्नों के उत्तर हमने दिया है। इनको ध्यान पूर्वक से जरूर देखें शायद हो सके कि आपको यहां से अपने प्रश्नों के जवाब मिल जाए।

Mastercard Banned in India क्या ये सच है?

जी हां, आप जो खबर सुन रहे हैं मास्टर कार्ड बैन इन इंडिया के बारे में वह बिल्कुल सच है और आरबीआई द्वारा ही इस निर्देश को लिया गया है।

भारत में मास्टरकार्ड बैन क्यों हुआ?

दोस्तों आरबीआई बैंक द्वारा मास्टर कार्ड को सभी बैंकों से संपर्क करने के लिए सभी प्रकार का डाटा मांगा था और अवसर भी प्रदान किया था जो कि मास्टर कार्ड आरबीआई को दे नहीं पाया। इसीलिए 22 जुलाई से कोई भी बैकअप मास्टर कार्ड नेटवर्क पर नए उपयोगकर्ताओं के लिए क्रेडिट कार्ड, डेबिट कार्ड या फिर प्रीपेड कार्ड जारी नहीं कर पाएंगे।

क्या पुराने ग्राहक को इससे कोई परेशानी होगी?

आरबीआई बैंक द्वारा यह निर्देश जारी कर दिया गया है कि जिनके पास पहले से मास्टर कार्ड का क्रेडिट कार्ड डेबिट कार्ड या फिर प्रीपेड कार्ड है उन्हें किसी भी प्रकार की कंपनी बदलने की आवश्यकता नहीं है। वह उसी से अपने काम चला सकते हैं उन्हें किसी भी प्रकार की परेशानी का सामना नहीं करना होगा। यानी कि अब आम आदमी को अपना कंपनी चेंज करने की आवश्यकता नहीं है। वह उसी कार्ड से अपने सारे रोजाना के काम जैसे पहले करते थे वैसे ही कर सकेंगे। आम आदमी को पहले से मास्टर कार्ड हासिल होने के वजह से अब परेशान होने की जरूरत नहीं।

अब नए ग्राहक कैसे मास्टरकार्ड करते इस्तेमाल कर पाएंगे?

जी नहीं, जो भी ग्राहक अब नया मास्टर कार्ड हासिल करने के लिए आवेदन करना चाहते हैं उन्हें किसी भी बैंक द्वारा मास्टरकार्ड की उपलब्धि नहीं कराई जाएगी। वह किसी और कंपनी के लिए आवेदन कर सकते हैं। जैसे के आप जानते ही है आ 22 जुलाई से Mastercard Banned in India पूर्ण रूप से होगा तो उदाहरण के तौर पर हम आपको बता दें की यदि आप बैंक ऑफ बरोड़ा में अकाउंट खोल रहे हैं और आपको मास्टर कार्ड चाहिए तब आप मास्टर कार्ड की जगह पर किसी और कार्ड का इस्तेमाल कर सकेंगे जैसे कि रुपए, वीजा आदि परंतु आपको मास्टर कार्ड बैंक द्वारा उपयोग करने के लिए प्रदान नहीं किया जाएगा क्योंकि इस पर अब रोक लगा दी गई है।

कब से बंद होगा भारत में मास्टर कार्ड?

22 जुलाई 2021 को भारत में मास्टर कार्ड पूरी तरह से बंद हो जाएगा। और बैंक द्वारा आपको इस कार्ड से जुड़ी किसी भी प्रकार की सुविधा का लाभ उठाने के लिए नही मिलेगा और अनुमति भी प्रदान प्रदान नही कि गयी है। परंतु जो पहले से मास्टर कार्ड धारक है उनको किसी भी प्रकार की परेशानी का सामना नहीं करना पड़ेगा। फर्क तो केवल इतना है कि अब नए मास्टरकार्ड अप्लाई करने वाले उपयोगकर्ताओं को बैंक द्वारा मास्टर कार्ड की उपलब्धि नहीं होगी।

conclusion

तो दोस्तों आज के लेख में हमने आपको मास्टर कार्ड बन इन इंडिया के बारे में सभी प्रकार की जानकारी प्रदान की है। हम आपको फिर से बता दे रहे कि आपके पास यदि पहले से ही मास्टर कार्ड उपलब्धि है चाहे आप मास्टर कार्ड का डेबिट कार्ड इस्तेमाल कर रहे हो, चाहे आप मास्टर कार्ड का क्रेडिट कार्ड इस्तेमाल कर रहे हो, या फिर आप मास्टर कार्ड कंपनी का प्रीपेड कार्ड को ही इस्तेमाल क्यों ना कर रहे हो आपको किसी भी प्रकार की परेशानी का सामना नहीं करना पड़ेगा। क्योंकि आरबीआई द्वारा निर्देश जारी किया है कि कोई भी पहले से ग्राहक यदि मास्टर कार्ड का उपयोग कर रहा है तो उसको किसी भी प्रकार का नुकसान नहीं होगा।

और उसे कंपनी बदलने की भी जरूरत नहीं है। परंतु जो उपयोगकर्ता नए सिरे से मास्टर कार्ड के लिए आवेदन करना चाहते हैं उनको बैंक बरा मास्टर कार्ड की उपलब्धि नहीं होगी। उनको किसी अन्य कार्ड की उपलब्धि होगी। आरबीआई ने मास्टर कार्ड से कुछ जरूरी डेटा मांगा था जो कि वह उन्हें देने में असफल रहा और समय भी बीत गया इसकी वजह से अब मास्टर कार्ड का डिस्ट्रीब्यूशन भारत में बंद कर दिया जाएगा जो कि 22 जुलाई को पूर्ण रूप से लागू होगा। और भारत में 30% लोग मास्टर कार्ड का उपयोग करते हैं।

यानी कि मास्टर कार्ड का भारत में 30% का हिस्सा है जो कि अब नहीं रहेगा। यदि आपको कोई और भी सवाल पूछना हो तो नीचे कमेंट सेक्शन में हमें जरूर पूछ सकते हैं हम आपको जवाब देने की पूर्ण रूप से कोशिश करेंगे। आपका यह पोस्ट पढ़ने के लिए बहुत-बहुत धन्यवाद। हम आपके लिए ऐसे ही लोन और बैंक से जुड़ी जानकारी लेकर आते रहते हैं इसलिए हमारे इस वेबसाइट पर जरूर आते रहे।

ADVERTISMENT

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

ADVERTISMENT
Back to top button
ADVERTISMENT